Kusum Solar Energy Scheme For Farmer

Kusum Scheme |Cabinet Approves |Kusum Cabinet Solar |Kusum Yojana |Kusum Yojana 2019 |Kusum Solar Pump

जैसा की आप जानते है। कैबिनेट ने किसानों को कुसुम भूमि के लिए नई सौर ऊर्जा योजना को मंजूरी दी है।

कुसुम योजना कैबिनेट की मंजूरी

Kusum Solar Energy
Kusum Solar Energy

 दोस्तों आज हम बात करेंगे  कुसुम सौर ऊर्जा योजना की यह योजना कैबिनेट मंत्री के द्वारा शुरू की गई है। इस योजना का लक्ष्य 2022 तक 5.750 मेगावॉट की सौर क्षमता को बढ़ाना है। इस योजना के तहत प्रदान किया जाने वाला कुल केंद्रीय फाइनेंससुपोर्ट 34,422 करोड़ रुपये होगा।हमारे देश में बहुत सी योजना आई है। लेकिन यह योजना सबसे अलग योजना में से एक है।

कुसुम सोलर योजना

 जैसा की आप जानते है। आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने मंगलवार को किसानों को वित्तीय और जल सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से किसान उरजा सर्वे उत्थान महाभियान (कुसुम) सोर ऊर्जा योजना शुरू करने को मंजूरी दी है। जो की सरकार की तरफ से होगी।

किसानों के बीच सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, सरकार का लक्ष्य अगले महीने 1.4 करोड़ रुपये की योजना शुरू करने का है।

इस योजना के तहत, बंजर कृषि योग्य भूमि वाले किसानों को सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।जो की सरकार की तरफ से होगी

वित्त मंत्री ने मंगलवार को कैबिनेट ब्रीफिंग में कहा कि इससे किसान की आय कई गुना बढ़ने में मदद मिलेगी।जिससे किसानो को अधिक सहायता मिलेगी।

केंद्र सरकार ने इस योजना के तहत 27.5 लाख सौर  (17.50 लाख ग्रिड से जुड़े) प्रदान करने की योजना बनाई है। इस योजना से किसानो को अधिक सहायता प्रदान होगी। यह सब इस योजना के तहत होगा।

 किसानों को कुल 2 2 मेगावाट की मध्यवर्ती क्षमता के कुल 10 GW सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने में मदद मिलेगी। यह 50,000 ग्रिड से जुड़े ट्यूबवेल / लिफ्ट सिंचाई और पेयजल परियोजना की परिकल्पना भी करता है।

कैबिनेट कुसुम सौर ऊर्जा

इस योजना में प्रत्यक्ष रोजगार क्षमता भी है। इस योजना के तहत मंगलवार को एक सरकारी बयान में कहा गया है कि स्वरोजगार बढ़ाने के अलावा यह प्रस्ताव कुशल और अकुशल श्रमिकों के लिए 6.31 लाख नौकरी के वर्षों के बराबर रोजगार के अवसर पैदा करने की संभावना है।

इस योजना का लक्ष्य 2022 तक सौर क्षमता 25,750 मेगावाट जोड़ना है, इस योजना के तहत प्रदान की जाने वाली केंद्रीय वित्तीय सहायता 34,422 करोड़ रुपये होगी।यह सब बोझ सरकार पड़ेगा।

Kusum Solar Energy
Kusum Solar Energy

कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन को बचाने के संदर्भ में इस योजना का पर्याप्त पर्यावरणीय प्रभाव होगा। संयुक्त रूप से योजना के परिणामस्वरूप प्रति वर्ष लगभग 27 मिलियन टन कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन की बचत करने की संभावना है, स्टैंडअलोन पम्प के परिणामस्वरूप 1.2 बिलियन लीटर डीजल प्रति वर्ष की बचत और विदेशी मुद्रा में संबद्ध बचत आयात में कमी के कारण हो सकती है कच्चे तेल ने मंगलवार को एक सरकारी बयान में कहा।

ग्रिड से जुड़े किसानों की सिंचाई जरूरतों और मौजूदा ग्रिड से जुड़े कृषि पम्पो के सोलराइजेशन की जरूरतों को पूरा करने के लिए ग्रिड सोलर वाटर पम्पो की स्थापना के साथ ग्रामीण में 2 मेगावाट तक की क्षमता वाले ग्रिड से जुड़े सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना के लिए यह योजना प्रदान करती है। किसान को ग्रिड आपूर्ति से स्वतंत्र करने के लिए और उन्हें DISCOM को उत्पन्न अधिशेष सौर ऊर्जा को बेचने और अतिरिक्त आय प्राप्त करने में सक्षम बनाना।

अन्त में यह योजना सरकारी क्षेत्रों के नलकूपों और लिफ्ट सिंचाई परियोजनाओं के सौरकरण के लिए प्रदान करेगी।

कैबिनेट कुसुम सौर ऊर्जा लाभ

इस योजना से किसानों को अधिक लाभ प्राप्त होगा और किसानो की आय में वृद्धि होगी किसान का व्यवसाय सुघरेगा। किसानो का व्यय कम होगा जिससे किसान अधिक बचत कर सकता है। जिस से वह अपने बैंक में या अन्य तरीके से सेविंग कर सकते है। वह अपना कृषि कार्य भी बढ़ा सकता  है। इस योजना के तहत अपने बचे हुए पेसो से और अपने व्यय को कम कर के सभी तरह से इस योजना का लाभ उठा सकता है।

Center Government Click Here
Sarkari Yojana Click Here
Kalia Yojana Click Here

सरकारी योजनाओ से जुड़ी जानकारियों के लिए आप हमारे वेबसाइट www.kaubic.in पर क्लिक करे। आप अपने विचार हमें कमेंट कर सकते है। 
आप हमारे फेसबुक पेज पर भी हमें फॉलो कर सकते है।

Updated: February 23, 2019 — 10:25 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *